REET News रीट परीक्षा हो तो 3 लाख बीएड बीएसटीसी धारक बेरोजगारों को मिले बड़ी राहत । 2 साल से टूट रही आस ।

REET News: रीट पात्रता परीक्षा 2023 का इंतजार कर अभ्यर्थियों के लिए एक बड़ी खबर आई है । राजस्थान मे रीट की नई भर्ती का अभ्यर्थी बेसब्री से इंतजार कर रहे है । लेकिन अभी तक रीट 2022 के बाद इस वर्ष रीट पात्रता परीक्षा का नोटिफिकेशन जारी नहीं किया गया । सरकार ने हर साल रीट पात्रता परीक्षा आयोजन करवाने की घोषणा की थी । लेकिन इस वर्ष अभी तक रीट नोटिफिकेशन जारी नहीं किया ।

REET News
REET News

राजस्थान मे अब नई रीट पात्रता परीक्षा 2023 का इंतजार कर रहे अभ्यर्थियों को बता दे कि अब नई रीट पात्रता परीक्षा का आयोजन चुनावों के बाद नई सरकार के गठन के बाद अगले साल फरवरी 2024 मे रीट पात्रता परीक्षा का नोटिफिकेशन व परीक्षा आयोजित करवाई जाने की संभावना है । अब नई रीट भर्ती मे लगभग 35000 पदों पर भर्ती होने की संभावना है । हालांकि अभी तक नई रीट पात्रता परीक्षा पर सरकार ने कोई निर्णय नहीं लिया है ।

REET News पिछले एक साल से नहीं हुई नई रीट पात्रता परीक्षा

सरकार ने घोषणा की थी कि हर साल रीट पात्रता परीक्षा का आयोजन किया जाएगा । लेकिन सरकार के ये खोखले दावे कागजी साबित हो रहे है । राजस्थान मे पिछले एक साल से नई रीट पात्रता परीक्षा का आयोजन नहीं किया गया । ऐसे मे पिछले दो सत्रों मे बीएड और बीएसटीसी करने वाले लाखों बेरोजगार अभ्यर्थियों की शिक्षक बनने की आस टूट रही है । बेरोजगार अभ्यर्थियों का तर्क है यदि सरकार समय पर रीट पात्रता परीक्षा 2023 का आयोजन करती है तो अगले साल होने वाली शिक्षक भर्तियों मे शामिल हो सके ।

अब राजस्थान मे चुनाव आचार संहिता लग गई है । ऐसे मे अब नई रीट पात्रता परीक्षा 2023 का नोटिफिकेशन जारी होने की संभावना बिल्कुल भी नहीं है । अब तो चुनावों के बाद नई सरकार के गठन के पश्चात ही नई रीट पात्रता परीक्षा का आयोजन हो सकेगा । लेकिन ये भी तय नहीं है की आने वाली नई सरकार आते ही रीट का नोटिफिकेशन जारी कर दे ।

कब कब आयोजित की गई पात्रता परीक्षा

केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड हर साल सीटेट की परीक्षा का आयोजन 2 बार करता है । इसके अलावा कई राज्य भी शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन वर्ष मे 2 बार करते है । लेकिन राजस्थान मे 2 बार छोड़कर एक साल मे एक बार भी परीक्षा का आयोजन नहीं किया जाता है । वर्ष 2012 और 2013 मे लगातार 2 सालों मे 2 बार टेट का आयोजन हुआ । इसके बाद 2016, 2018, 2021, 2022 को रीट पात्रता परीक्षा का आयोजन हुआ । यानि पिछले 11 सालों मे सिर्फ 6 बार पात्रता परीक्षा का आयोजन किया गया ।

REET News रीट की किस परीक्षा में कितने अभ्यर्थियों ने भाग लिया

वर्ष 2021 में प्रथम लेवल में 12 लाख 67 हजार 983 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। जबकि 2022 की रीट में प्रथम लेवल में आवेदन महज 3 लाख 86 हजार 508 ने ही आवेदन हुए थे। पिछली भर्ती के समय बीएड डिग्रीधारियों ने आवेदन किया। प्रथम लेवल में बीएड डिग्रीधारियों को शामिल करने की अनुमति नहीं देने के बाद आवेदन कम हुए हैं।

रीट परीक्षा 2022 में 14 लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने भाग लिया था। रीट लेवल वन-1 में 63.63 फीसदी तो लेवल-2 में 52.19 फीसदी अभ्यर्थी पात्र रहे थे। लेवल वन की परीक्षा में 3 लाख 20 हजार 14 उम्मीदवार शामिल हुए थे, जिनमें से 2 लाख 3 हजार 609 उम्मीदवार क्वालीफाई हुए। वहीं रीट लेवल 2 के पेपर में 11 लाख 55 हजार 904 उम्मीदवार शामिल हुए।

Read Also: RPSC 1st Grade Teacher Syllabus 2023 राजस्थान स्कूल लेक्चरर का नया सिलेबस हिन्दी मे ।

इनमें से 6 लाख 3 हजार 228 उम्मीदवार क्वालीफाई हुए थे। 14 लाख में से 8 लाख अभ्यर्थी ही रीट क्वालिफाई कर पाए थे। करीब 6 लाख अभ्यर्थी पिछली रीट के और बीएड कॉलेजों से डिग्री पूरी करने निकले प्रदेश के करीब 1 लाख अभ्यर्थी और इस परीक्षा का इंतजार कर रहे हैं।

REET News तीन साल की जगह अब लाइफ टाइम वैद्यता

रीट प्रमाण पत्रों की वैद्यता को लेकर बोर्ड काफी विवादों में रहा है। पहले वैद्यता तीन साल थी। पिछले साल रीट प्रश्न पत्र के आऊट होने के विवादों के बीच सरकार ने सीटेट की तर्ज पर वैद्यता लाइफ टाइम कर दी थी। अब तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्तियों के लिए बेरोजगारों को हर बार परीक्षा नहीं देनी पड़ेगी, लेकिन सरकार की ओर से नए विद्यार्थियों के लिए परीक्षा की राहें नहीं खोली जा रही है।

REET News प्रदेश में कब कौनसे पैटर्न से बने शिक्षक

वर्ष 2003 में तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती का जिम्मा जिला परिषदों से लेकर आरपीएससी को दिया गया। आरपीएससी ने पहली बार वर्ष 2004 में तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती कराई।

वर्ष 2009 में निशुल्क अनिवार्य शिक्षा का अधिकार अधिनियम प्रभावी हो गया। पहली बार 2011 में रीट परीक्षा कराई गई। वर्ष 2012 में भर्ती परीक्षा का जिम्मा आरपीएससी से लेकर जिला परिषदों को दिया गया। इस भर्ती में आरटेट के 20 प्रतिशत अंक लिखित परीक्षा के अंकों में जोडक़र जिला स्तर पर मेरिट बनाई गई। इसके वर्ष

2013 में 20 हजार पदों के लिए भर्ती हुई थी। इसकी जिम्मेदारी भी जिला परिषदों को दी गई। इन दोनों भर्तियों में आरटेट के 20 प्रतिशत अंक मेरिट में जोड़े गए।

वर्ष 2016 में भर्ती का पेटर्न बदल दिया और आरटेट को खत्म कर रीट के माध्यम से भर्ती कराई गई। इसमें 70 प्रतिशत रीट परीक्षा के अंक और 30 प्रतिशत स्नातक के अंको का वेटेज दिया गया।

अब 2022 से रीट परीक्षा को सिर्फ पात्रता परीक्षा घोषित किया है। रीट के बाद होने वाली एक और परीक्षा के आधार पर तृतीय श्रेणी शिक्षकों का चयन होना है।

इस वेबसाइट पर आपको सरकारी नौकरी, शिक्षा समाचार, सरकार की सभी योजनाएं सभी ब्रेकिंग न्यूज़ की अपडेट सबसे पहले उपलब्ध करवाई जाती है। अभी हमारे व्हाट्सप्प ग्रुप से जुड़े: Click Here

Leave a Comment