Rajasthan Election 2023 राजस्थान मे राज बदलेगा या रिवाज ? बीजेपी-कांग्रेस मे कौन मार रहा है बाजी ।

Rajasthan Election 2023: राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 शांतिपूर्ण सम्पन्न हो चुके है । चुनाव पूरे होने के साथ ही दोनों राजनीतिक दल अपनी-अपनी सरकार बनाने का दावा कर रहे है । ऐसे राजस्थान के मतदाताओं का मिजाज भापना आसान नहीं है । ये तो तीन दिसंबर को ही तय होगा कि कांग्रेस का राज बरकरार रहेगा या रिवाज के मुताबिक एक बार फिर सरकार बदल जाएगी और सरकार भाजपा की बनेगी।

Rajasthan Election 2023
Rajasthan Election 2023

अब जनता के मन मे सबसे बड़ा सवाल ये उठ रहा है क्या राजस्थान मे इस बार वो रिवाज बदलेगा जो पिछले 30 सालों से चला आ रहा है । 3 दशक के बाद क्या राजस्थान मे कांग्रेस की सरकार रिपीट होगी या एक बार फिर से राज बदलेगा ? राजस्थान विधानसभा चुनावों के लिए शनिवार को मतदान हुआ था और इस बार राजस्थान मे बम्पर वोटिंग हुई । राजस्थान मे इस बार 74.62% मतदान हुआ ।

Rajasthan Election 2023

राजस्थान मे 199 विधानसभा सीटों के लिए मतदान हुआ जिसमे 74.62% मतदान हुआ जिसने वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव के 74.06% मतदान के रिकार्ड को तोड़ा है । वोटिंग प्रतिशत बढ़ने से राजनीतिक गलियारों मे नई बहस शुरू हो गई । राजस्थान मे रिवाज बदलेगा या राज बदलेगा ? खैर, मतदाताओ ने तो अपना काम कर दिया । ऐसे मे अब 3 दिसंबर को होने वाली मतगणना के बाद ही पता चल पाएगा की आखिरकार जनता ने राजस्थान का सर्वेसर्वा किसे बनाया है ?

Join WhatsApp GroupJoin Now

इसे भी पढे: Rajasthan Election Result 2023 Link: राजस्थान में किसकी बनेगी सरकार, जानें कैसे और कहां देखे 199 विधानसभा सीटों के नतीजे

इस बार विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने राज के बजाय रिवाज बदलने के लिए गहलोत सरकार की गारंटी पर भरोसा किया। जबकि भाजपा ने मोदी गारंटी और उन्हीं के चेहरे को राज बदलने की सियासी जंग का प्रमुख हथियार बनाया था। भाजपा को मतदान के बाद राजस्थान का यह रिवाज बरकरार रहने की उम्मीद है तो वहीं कांग्रेस उम्मीद कर रही है कि इस बार यह रिवाज ही बदलेगा और फिर से उसकी सरकार बनेगी। फिलहाल हर किसी के दावे में कई पेंच हैं, जिनका जवाब तीन तारीख को ही मिलेगा।

क्या राजस्थान मे रिवाज बदलेगा या राज ?

इस विधानसभा चुनाव मे गहलोत सरकार की गारंटी पर भरोसा किया । अशोक गहलोत की ये गारंटी इस बार राज बदलने के बजाय रिवाज बदलने के लिए काफी है । जबकि बीजेपी ने प्रधानमंत्री मोदी की गारंटी और उनके चेहरे पर चुनाव लड़ने को ही राज बदलने के लिए प्रमुख माना है ।

राजस्थान मे वोटिंग होने के बाद से कांग्रेस को उम्मीद है इस बार राजस्थान मे रिवाज बदलेगा और राजस्थान मे कांग्रेस की सरकार रिपीट होगी । तो वही बीजेपी को उम्मीद है कि राजस्थान का यह रिवाज पिछले 30 सालों के जैसा ही रहेगा और राजस्थान मे राज बदलेगा । फिलहाल इन बातों को लेकर हर किसी के अनुमानों मे कई पेंच फंसे हुए है जिनका जवाब 3 दिसंबर को ही मिलेगा ।

दोनों ही पार्टियां अपनी-अपनी सरकार बनाने का दावा करती हुई नजर आ रही है । 30 नवंबर को एग्जिट पोल के नतीजे भी चौकाने वाले आए । एग्जिट पोल के 11 नतीजों मे से 8 मे बीजेपी और 3 मे कांग्रेस की सरकार बनाने का दावा किया गया ।

Read Also: SBI YONO Cash Withdrawal एसबीआई बैंक के ग्राहक बिना एटीएम कार्ड के भी निकाल सकते है एटीएम से पैसे, जानिए पूरी प्रोसेस

राजस्थान मे पिछले 30 सालों से कोई भी सरकार रिपीट नहीं हुई

राजस्थान विधानसभा चुनावों के लिए वोटिंग से पहले चुनावी माहौल मे दोनों ही पार्टियों कांग्रेस और बीजेपी ने जीत के लिए जनता के सामने बड़े-बड़े चुनावी वादे किए हो, लेकिन दोनों ही पार्टियों को मतदाताओ के मिजाज का डर सता रहा है । कांग्रेस को 30 सालों का रिवाज डरा रहा है तो वर्तमान परिस्थितियों मे बीजेपी को मतदाताओ के मिजाज का डर है ।

वैसे राजस्थान मे पिछले 30 सालों यानि वर्ष 1993 के बाद से कोई भी पार्टी ने राजस्थान मे सरकार रिपीट नहीं कर पाई । 3 दशकों से हर 5 साल बाद राजस्थान मे सत्ता परिवर्तन होता आ रहा है । 1993 मे राजस्थान मे भैरोंसिंह शेखावत के नेतृत्व मे बीजेपी सरकार बनी । इसके बाद हर 5 साल मे बीजेपी और कांग्रेस पार्टी की सरकार बनी । कभी राजस्थान का ताज अशोक गहलोत तो कभी वसुंधरा राजे के सिर पर सजता रहा ।

Read Also: Rajasthan Exit Polls Result 2023 राजस्थान मे किसकी बन रही है सरकार, एग्जिट पोल के नतीजे जारी, जाने यहाँ से

अशोक गहलोत vs वसुंधरा राजे

राजस्थान मे पिछले 3 दशकों मे राजस्थान के मतदाताओ ने राजस्थान के मुख्यमंत्री के पद पर सिर्फ दो चेहरों को ही देखा है । साल 1998 के विधानसभा चुनावों मे कांग्रेस ने 153 सीटें जीतकर प्रचंड बहुमत से बीजेपी को सत्ता से हटाकर सत्ता मे वापसी की और अशोक गहलोत पहली बार राजस्थान के मुख्यमंत्री बने । बीजेपी इस चुनाव मे सिर्फ 33 सीटों पर सिमट गई ।

लेकिन अगले ही विधानसभा चुनाव 2003 मे बीजेपी ने जबरदस्त वापसी करते हुए कांग्रेस को सत्ता से हटा दिया । बीजेपी की सीटों की संख्या 33 से बढ़कर 120 सीटें हो गई । राजस्थान मे बीजेपी की सरकार बनाई और राजस्थान की पहली महिला मुख्यमंत्री के रूप मे वसुंधरा राजे उदय हुआ । वही कांग्रेस की सीटें 153 से घटकर 56 सीटें रह गई ।

Read Also: Rajasthan Exit Poll Live 2023 राजस्थान मे किसकी बनेगी सरकार, एग्जिट पोल बताएंगे किसकी बन रही है सरकार, जाने कब, कहाँ और कैसे देखे एग्जिट पोल

साल 2008 विधानसभा चुनावों मे एक बार फिर राज बदला और राजस्थान मे कांग्रेस पार्टी ने सरकार बनाई । इस चुनाव मे किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला । इस चुनाव में कांग्रेस ने भाजपा को सत्ता से बेदखल करते हुए 96 सीटें जीती थीं। वहीं, भाजपा को 78, मायावती की पार्टी बसपा को छह तो अन्य को 20 सीटें मिलीं। और अशोक गहलोत एक बार फिर राजस्थान के मुख्यमंत्री बने ।

साल 2013 विधानसभा चुनाव मे राजस्थान मे फिर से सत्ता का परिवर्तन हुआ और बीजेपी ने राजस्थान मे सरकार बनाई । इस चुनाव मे पिछले सारे रिकार्ड तोड़ते हुए बीजेपी ने राजस्थान मे 163 सीटें जीतकर प्रचंड बहुमत की सरकार बनाई । कांग्रेस पार्टी अपने सबसे बुरे दौर मे प्रवेश कर 21 सीटों पर सिमट गई । और वसुंधरा राजे के नेतृत्व मे बीजेपी की सरकार बनी ।

साल 2018 मे फिर सत्ता का परिवर्तन हुआ । बीजेपी ने पिछले चुनावों मे 163 सीटें जीतने के बाद दुबारा से जनता का विश्वास हासिल नहीं कर पाई और सरकार रिपीट करने मे असफल रही । सचिन पायलट के नेतृत्व मे कांग्रेस पार्टी ने 21 सीटों से बढ़कर 99 सीटें जीती । वहीं भाजपा को 73, मायावती की पार्टी बसपा को छह तो अन्य को 20 सीटें मिलीं। और राजस्थान मे अशोक गहलोत तीसरी बार मुख्यमंत्री बने ।

इस वेबसाइट पर आपको सरकारी नौकरी, शिक्षा समाचार, सरकार की सभी योजनाएं सभी ब्रेकिंग न्यूज़ की अपडेट सबसे पहले उपलब्ध करवाई जाती है। अभी हमारे व्हाट्सप्प ग्रुप से जुड़े: Click Here

Join Telegram Group (55K+)Join Now

Leave a Comment